राधा नाम की महिमा

राधा नाम की महिमा | राधा नाम में समायें हैं समस्त सुख | राधा नाम करता है अमंगलों का नाश | राधा नाम से होते हैं कृष्ण प्रसन्न | तीनों तापों को हरने वाला राधा नाम | समस्त कामनाओं को पूर्ण करने वाला राधा नाम | Radha naam ki mahima | राधा नाम जपने के लाभ 

Subscribe on Youtube: The Spiritual Talks

Follow on Pinterest: The Spiritual Talks

 

राधा नाम की महिमा

 

राधा नाम लेने से समस्त कामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।“राधा” नाम में समस्त सुख समायें हैं, श्री राधा के स्मरण से समस्त प्रकार की संसार की बाधा मिट जाती है।

 

श्री राधा नाम अमंगल के मूल का नाश कर देता है, तीनों तापों को हरने वाला है तथा श्री हरि [कृष्ण]और हर [शिव] के मन को भाने वाला है।

 

 

श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए भले ही कोई करोड़ों यज्ञ करे, तपस्या करे, बहुत प्रकार के नियम और व्रत का अनुष्ठान करे, परन्तु फिर भी श्री कृष्ण उस साधक को तब तक अपनाते नहीं हैं, जब तक वह राधा नाम का गान न करे।

 

श्री राधा ही रस स्वरूपतथा प्रीती स्वरुप हैं जिसमे भेद नहीं है, वेद भी इसी का गान करते रहते हैं।राधा रानी को त्याग कर जो केवल श्री कृष्ण का भजन करता है, वह सपने में भी संसार सागर को पार नहीं कर सकता।

 

श्री राधा सदैव श्री कृष्ण नाम का उच्चारण करती हैं तथा श्री कृष्ण राधा नाम का उच्चारण करते हैं, दोनों का स्वरूप एक समान है तथा दोनों प्रेम के समुद्र हैं।

 

हे श्री राधा, आपका नाम परम सुख को प्रदान करने वाला है, जिसको भजते ही श्री कृष्ण तत्क्षण कृपा करते हैं। जो भी आपके नाम का स्मरण करता है उस भाग्यशाली जीव के पीछे यशोदा नंदन फिरने लगते हैं।

 

 

श्री राधा के मात्र एक अंश से करोड़ों-करोड़ों लक्ष्मी,सरस्वती तथा पार्वती देवियाँ प्रकट होती हैं, जो गुणों की खान हैं। श्री राधा की महिमा अपार है जिसका वर्णन संभव नहीं है।

 

श्री राधा समस्त सुखों की धाम है,नित्य सुख तथा समस्त मंगल की दात्री हैं, करुणा की सागर हैं,श्री कृष्ण की प्राण प्रिय एवं उनके हृदय के उल्लास को बढ़ाने वाली है।

 

श्री श्याम सुंदर नित्य ही श्री राधा के गुणों को गाते हैं एवं राधा राधा कहकर हर्षित होते हैं।

 

श्री राधा रानी आगम-निगम तथा वेदों से अगोचर नित्य स्वरूपा हैं तथा ब्रज भूप श्री कृष्ण नित्य उनका ध्यान धरते हैं।

 

 

राधा रानी संपूर्ण जनों की रक्षक हैं तथा उनके दुःख दोष का नाश करने वाली हैं।शिव, ब्रह्मा, मुनि जन, सनकादिक, नारद, शेष एवं सरस्वती भी श्री राधा का पार न पा सके।

 

श्री राधा शुभ हैं, गुण और रूप की खान हैं उनके एक बार दर्शन से ही बनवारी श्री कृष्ण प्रसन्न हो जाते हैं।

 

श्री राधा समस्त जनों को सुख प्रदान करती है तथा नित्य प्रफुल्लित हैं।

 

राधा नाम जप करने से व्यक्ति बहुत शक्तिशाली और संपन्न हो जाता है उसे श्री राधिका से आमने सामने मिलने का सौभाग्य प्राप्त होता है ।

 

राधा नाम जाप से कर्मों  के फल नष्ट हो जाते हैं । सभी कर्मो के फल चाहे वह परिपक्व हों, फलदायक हों, या बीज अवस्था में हो – प्रिय राधा रानी के नाम को सुनने या सुनाने पर पूरी तरह नष्ट हो जाएँगे।

 

जो भी इस शक्तिशाली नाम को सुनेंगे या सुनाएंगे, उन्हे नंदनंदन से शाश्वत प्रेम करने वाले सहयोगियों की सभा में प्रवेश मिलेगा। उसकी सारी सांसारिक और आध्यात्मिक इच्छाएँ पूरी होंगी। उसे धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति होगी।

 

पारलौकिक ऐश्वर्य प्राप्त करने के कारण व्यक्ति बहुत शक्तिशाली और संपन्न हो जाता है । उसे श्री राधिका से आमने सामने मिलने का सौभाग्य प्राप्त होता है और भक्त श्री राधा रानी को उनकी क्रपा से अपनी सांसारिक आँखों से भी देख सकता है।

 

 

उसके ह्रदय में प्रेम पूर्ण भक्ति का उदय होता है।

 

व्यक्ति हर क्षेत्र में पूर्णता प्राप्त करता है और जो कुछ भी बोलता है वह सच हो जाता है, वह आध्यात्मिक दृष्टि से संपन्न होता है और श्रीमति राधारानी का प्रत्यक्ष, व्यक्तिगत दर्शन प्राप्त करता है।

 

उससे प्रसन्न होकर, श्रीमति राधिका तुरंत उसे सबसे बड़ी सौगात देती है और वह अपनी आँखों से अपने प्यारे भगवान श्री श्यामसुन्दर का सुंदर का दर्शन करता है। व्रज के भगवान उस भक्त को अपनी शाश्वत लीला में प्रवेश देते हैं। वैष्णवों के लिए इससे बड़ा कोई लक्ष्य नहीं है।

 

राधा नाम का जाप करने से श्री राधिका इतनी प्रसन्न हो जाती हैं कि वह भक्त पर तुरंत एक महान कृपा करती हैं, जो ये है कि वह अपने प्रिय श्यामसुन्दर को अपनी आँखों से देखता है।

 

जो भी राधा नाम को सुनेगा उस पर श्री राधा की कृपा द्रष्टि अवश्य पड़ती है।

 

राधा नाम जाप करने वालों की एक-एक इच्छा पूरी होगी और वे श्री राधा की कृपा द्रष्टि के द्वारा भक्तिपूर्ण सेवा प्राप्त करेंगे जो भगवान के शुद्ध, परमानंद प्रेम से युक्त होती है।

 

वे मानव जो हर समय राधा नाम का जाप करते हैं वे मानव अस्तित्व के पांच लक्ष्यों अर्थात् धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष, में पूर्णता प्राप्त करेंगे ।

 

 

 

Be a part of this Spiritual family by visiting more spiritual articles on:

The Spiritual Talks

For more divine and soulful mantras, bhajan and hymns:

Subscribe on Youtube: The Spiritual Talks

For Spiritual quotes , Divine images and wallpapers  & Pinterest Stories:

Follow on Pinterest: The Spiritual Talks

For any query contact on:

E-mail id: thespiritualtalks01@gmail.com

 

 

 

 

By spiritual talks

Welcome to the spiritual platform to find your true self, to recognize your soul purpose, to discover your life path, to acquire your inner wisdom, to obtain your mental tranquility.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!